दिल्ली विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की करारी हार के बाद भाजपा का खेमा बाहर से भले ही बेहद शांत दिख रहा हो, लेकिन भाजपा में भीतरी खलबली मची हुई है।

क्योंकि भाजपा के दिग्गज नेता लगातार यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर 48 सीटों का आकलन करने के बावजूद भाजपा सिर्फ 8 सीटों पर क्यों सिमट गई?

यही वजह है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दिल्ली विधानसभा चुनावों में मिली हार पर मंथन करने के लिए अब तक का सबसे बड़ा कदम उठाया है।

जानकारी के लिए बता दें जेपी नड्डा ने मनोज तिवारी को तलब किया है, इस मीटिंग में इन दोनों नेताओं के अलावा भाजपा के अन्य कई दिग्गज नेता मौजूद रहेंगे तथा हार पर विस्तृत चर्चा की जाएगी।

बताते चलें कि एग्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी की करारी हार दिखने के बावजूद मनोज तिवारी ने सभी एग्जिट पोल को गलत ठहराया था। लेकिन मनोज तिवारी और भारतीय जनता पार्टी का आकलन पूरी तरह से गलत निकल गया।

वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस में लगातार 0 सीटें आने पर भी हड़कंप मच गया है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी हार के कारणों को जानने की कवायद शुरू कर दी है।

दोस्तों आप के अनुसार दिल्ली में भाजपा की करारी हार का सबसे बड़ा कारण क्या रहा? आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। साथ ही हमारे चैनल को फॉलो करें।