देश में जारी कोरोना संकट के बढ़ते मामलों और चीन के साथ चनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को शाम 4 बजे देश की जनता को एक बार फिर संबोधित करेंगे।

इस बात की जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट के जरिए दी। बता दें कि सरकार ने अनलॉक 2.0 के लिए सोमवार को गाइडलाइन का एलान कर दिया है।

भारत में 1 जुलाई से अनलॉक 2.0 लागू हो जाएगा। तो वहीं पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। अब इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन काफी अहम माना जा रहा है।

पीएम मोदी शाम चार बजे राष्ट्र को करेंगे संबोधित

भारत इनदिनों कई चुनौतियों से जूझ रहा है। एक ओर कोरोना वायरस तो दूसरी ओर चीन से तनाव देश के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। हालांकि सरकार दोनों ही मामलो में मोर्चे पर खड़ी है।

इसी कड़ी में प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जानकारी दी गयी कि पीएम मोदी मंगलवार शाम चार बजे देशवासियों को संबोधित करेंगे। सम्भावना है कि पीएम इस दौरान कोई बड़ा एलान कर सकते हैं।

इन मुद्दों पर पर कर सकते हैं बातचीत

अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस एक जुलाई से लागू होने जा रही है। गृह मंत्रालय ने प्वाइंट-वाइज गाइडलाइंस जारी कर दी है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री कुछ गतिविधियों की छूट अब भी न दिए जाने का कारण बता सकते हैं।

इसके अलावा, किन बातों को ध्‍यान में रखकर गाइडलाइंस तैयार की गई हैं, उनका मकसद क्‍या है, इस बारे में भी प्रधानमंत्री जानकारी दे सकते हैं।

-राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के साथ जारी तनाव भी पर बोल सकते हैं। वह साफ कर चुके हैं कि भारत किसी भी घुसपैठ का मुंहतोड़ जवाब देगा और इसके लिए सेना को खुली छूट दी गई है। व

ह वर्तमान हालात पर देश को जानकारी दे सकते हैं। इसके अलावा, सरकार ने चीन के खिलाफ क्‍या-क्‍या कदम उठाए हैं, उसकी भी जानकारी प्रधानमंत्री देशवासियों को दे सकते हैं।

-चीन के साथ जारी तनाव के बीच भारत में चीनी उत्‍पादों के बायकॉट की मांग पर भी बोले सकते हैं। हालांकि प्रधानमंत्री सीधे चीनी बायकॉट की बात नहीं करेंगे, लेकिन वह जनता से ‘आत्‍मनिर्भर’ होने की अपील कर सकते हैं।

वह ऐसा पहले भी कह चुके हैं कि हमें दूसरे देशों पर निर्भरता कम करनी चाहिए। वह देश में मैनुफैक्‍चरिंग को बढ़ावा देने की बात कई बार चुके हैं और इस दिशा में किसी योजना का एलान कर सकते हैं।

पहले ये कर चुके हैं एलान

इससे पहले पीएम मोदी ने 19 मार्च को देश को संबोधित किया था। उन्‍होंने 22 मार्च को ‘जनता कर्फ्यू’ की घोषणा की थी। इसके बाद, 24 मार्च को उन्‍होंने 21 दिन के लॉकडाउन का एलान किया था।

इसके बाद 14 अप्रैल को 3 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा पीएम ने ही की थी। 3 अप्रैल को एक वीडियो मैसेज में कोरोना वॉरियर्स के लिए दीये जलाने की अपील की थी।