दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में आम आदमी पार्टी (AAP) को मिली जबरदस्त जीत के बाद अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बनेंगे.

16 फरवरी को रामलीला मैदान में केजरीवाल का शपथ ग्रहण समारोह होगा. आप की इस बंपर जीत से अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता (Sunita Kejriwal) काफी खुश हैं. उन्होंने न्यूज़ 18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में सक्रिय राजनीति में आने के संकेत दिए.

सुनीता केजरीवाल ने कहा कि नई दिल्ली के लोगों के कई छोटे-छोटे मुद्दे हैं. मुझे लग रहा है कि मुझे उन मुद्दों को देखना चाहिए.

मैं आने वाले समय में इन्हें हल करना चाहूंगी. उन्होंने कहा कि वो पहली बार नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र के लोगों से मिलीं, इस दौरान कुछ लोगों ने उनसे अपनी छोटी-छोटी समस्याओं का जिक्र किया.

पति को आतंकवादी कहे जाने पर बहुत दुख हुआ

सुनीता केजरीवाल ने कहा कि चुनाव प्रचार की व्यस्तता के चलते परिवार पूरे दिन आपस में बमुश्किल बातचीत कर पाता था. उन्होंने कहा कि कैंपेन के दौरान विरोधी जिस तरह उन्हें (अरविंद केजरीवाल) निशाना बनाते थे उसे भुलाकर वो अपने काम (चुनाव प्रचार) में जुट जाते थे.

सुनीता ने कहा कि डायबिटिज के मरीज अरविंद केजरीवाल के खान-पान का काफी खयाल रखना पड़ता था जो उनके लिए बड़ी चुनौती थी.

उन्होंने कहा कि जब उनके पति अरविंद केजरीवाल को आतंकवादी कहा गया तो उन्हें और परिवार को काफी बुरा लगा. सुनीता ने न्यूज़ 18 से कहा कि ऐसा कहने वाले लोग नासमझ हैं.

उन्होंने अपने पति का बचाव करते हुए कहा कि उनकी शादी को पच्चीस साल हो गए हैं. वो अरविंद केजरीवाल की समाजसेवा की भावना से प्रभावित हैं.

दरअसल 11 फरवरी को चुनाव नतीजों में आप को जीत मिलने पर अरविंद केजरीवाल ने सार्वजनिक रूप से पत्नी सुनीता को गले लगा लिया था और उन्हें बर्थडे की बधाई दी थी.

सुनीता केजरीवाल ने दिल्‍ली विधानसभा चुनाव में अपने पति के लिए प्रचार किया था. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र में घर-घर घूमकर कैंपेन किया था.

इससे उनके सक्रिय राजनीति में उतरने के कयास लगाने जाने लगे थे. लेकिन तब सुनीता केजरीवाल ने इससे जुड़े तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा कि किसी भी नेता का सपोर्ट सिस्‍टम भी मजबूत होना जरूरी होता है.

अरविंद और सुनीता का 25 साल पुराना है साथ

बता दें कि सुनीता और अरविंद केजरीवाल 25 साल पहले मसूरी में नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्‍ट्रेशन में मिले थे. दोनों साथ-साथ आरआरएस अधिकारी बने.

इनकम टैक्स विभाग में 22 साल नौकरी करने के बाद सुनीता केजरीवाल ने अपने पति को सपोर्ट करने के लिए वर्ष 2016 में वॉलिंटेयरी रिटायरमेंट (VRS) ले लिया था.