पंचकूला(सच कहूँ न्यूज)। मोरनी स्थित (Morni Gangrape Case) गेस्ट हाउस में नौकरी दिलवाने के नाम पर महिला से 40 लोगों द्वारा 4 दिन तक की गई दरिंदगी का मामला अब संसद में गूंजेगा। कांग्रेस अध्?यक्ष राहुल गांधी ने इस पर

ट्वीट कर भाजपा सरकार पर निशाना साधा है और मामले को संसद में उठाने की बात कही है। राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि भाजपा शासन खासकर हरियाणा में बेटियां और महिलाएं सुर?क्षित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा में 40 लोगों द्वारा एक युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने की घटना ने मुझे दुखी और हिला कर रख दिया।

मैं इस मामले को आज ससद में उठाऊंगा। मैं महिलाओं के प्रति अपराध और हिंसा का मुद्दा उठाता रहा हूं और संसद आज इसे फिर उठाऊंगा। उन्होंने कहा कि हमें एक देश और इसका नागरिक होने के नाते इस शर्मनाक हालत के

खिलाफ आवाज उठाना होगा। हमें बेटियों की सुरक्षा के लिए कदम उठाना होगा। आरोप है कि मोरनी के एक गेस्?ट हाऊस में इस विवाहित युवती को चार दिन तक ( खाने में नशीला पदार्थ मिलाकर दे दिया जाता था और फिर नौ से 10 व्यक्ति उससे सामूहिक दुष्कर्म करते थे।

रिजॉर्ट के मालिक एवं मैनेजर को गिरफ्तार कोर्ट में पेश करके न्यायिक
हिरासत में भेज दिया | Morni Gangrape Case

महिला किसी तरह वहां से बचकर भागी और अपने पति को फोन कर सारी कहानी बयां की। महिला बस से पंचकूला पहुंची, जहां से उसका पति उसे महिला पुलिस थाने ले गया। आरोप है कि वहां पर पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की गई और उसे मनीमाजरा भेज दिया गया। युवती ने मनीमाजरा पुलिस को पूरी घटना बताई।

चंडीगढ़ पुलिस ने केस दर्ज करके लवली रिजॉर्ट के मालिक एवं मैनेजर को गिरफ्तार कोर्ट में पेश करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया। मामला पंचकूला के अधिकार क्षेत्र का होने के कारण चंडीगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को केस पंचकूला ट्रांसफर

कर दिया। पंचकूला में केस ट्रांसफर होते ही पुलिस कमिश्नर चारु बाली ने तीन पुलिस कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया और मामले की जांच के लिए एसीपी अंशु सिंगला की अगुवाई एसआइटी बना दी।

नौकरी दिलवाने के बहाने ले गया था पति
का दोस्त | Morni Gangrape Case

मनीमाजरा निवासी महिला के पति को लवली गेस्ट हाऊस के मालिक सुनील सन्नी ने कहा था कि उसे रायपुररानी की तरफ काम के लिए महिला की जरुरत है। इसके बाद पति ने सन्नी को उसकी पत्नी को काम पर रखने के लिए कहा था।

15 जुलाई को वह पत्नी को रामगढ़ ले गया था, जहां से आगे होटल मालिक सुनील महिला को कार में बैठाकर फार्म हाऊस ले गया।सुनील ने कहा था कि उसके रहने खाने का प्रबंध भी हमारा होगा। लेकिन, आरोपित सुनील महिला को

फार्म हाऊस ले जाने के बजाय मोरनी के लवली गेस्ट हाऊस ले गया। इसके बाद पति जब भी पत्नी को फोन करता था, तो वह रोती थी, लेकिन आरोपितों के डर के कारण कुछ नहीं कह पाती थी। इसके बाद पति ने आरोपित सुनील को फोन

किया तो वह बार-बार फोन काट देता था और फिर फोन ब्लैक लिस्ट में डाल दिया। पति ने फिर सुनील को फोन करके कहा कि इसे भेज दो तो वह उसे धमकियां देने लगा।

कभी 10, तो कभी 11 लोग करते थे सामूहिक दुराचार | Morni Gangrape Case

आरोपित महिला को नशे के इंजेक्शन देने की धमकी देता था, उसके खाने में नशा मिलाकर बेहोश कर देते थे। महिला के अनुसार 15 से 18 जुलाई तक उससे रोजाना अलग-अलग लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। जब उसने कुछ आरोपितों को

रोकने की कोशिश की तो उन्होंने कहा कि वह पुलिस वाले हैं। कभी 10, तो कभी 11 लोग सामूहिक दुराचार करते थे।18 जुलाई को महिला ने अपने पति को फोन पर कहा कि वह बहुत तंग है और यहां नहीं रुकना चाहती। इसके बाद पति

ने सुनील को धमकी दी कि मेरी पत्नी को भेज दो, वरना पुलिस को शिकायत कर दूंगा। इसके बाद आरोपित ने युवती को दोपहर लगभग तीन बजे बस में बिठाकर भेज दिया और कहा कि पंचकूला बस स्टैंड से इसको ले लेना। पति ने पुलिस

कंट्रोल रूम में फोन किया तो उन्होंने कहा महिला थाने में जाओ। वह महिला थाने में गया तो कहा गया कि जब तुम्हारी पत्नी आएगी, तब आना। इस बीच, उसकी पत्नी बस स्टैंड पहुंच गई और उसने सारी बात पति को बताई।