नमस्कार मित्रो – आज हम बात करने जा रहे है दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक परिवार गाँधी परिवार की – जैसा कि सोनिया गाँधी कांग्रेस की वर्तमान में अध्यक्ष है कांग्रेस के गठबंधन की मनमोहन सिंह सरकार के दौरान कांग्रेस की नेता सोनिया गाँधी के सबसे खास नेता गुजरात के नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल माने जाते है।

कहते है कि अहमद पटेल का खौफ इतना था कि मनमोहन के नेतृत्व वाला पीएमओ भी उनसे डरता है बिना यह,अहमद पटेल की मर्जी के पीएमओ में कोई भी फाइल मनमोहन सिंह जी के पास नहीं जाती है

अहमद पटेल को सोनिया गाँधी का सबसे खास नेता इसलिए ही नहीं कहा जाता कुछ सूत्र यह भी कहते है कि राहुल गाँधी भी अहमद पटेल से डरते है उनके लिए हुए फैसलों में राहुल गाँधी भी हस्तछेप नहीं कर पाते

अभी वर्तमान में महाराष्ट्र में शिवसेना और एनसीपी के साथ गठबंधन करने की पूरी जिम्मेदारी सोनिया गाँधी ने अहमद पटेल को दे रखी है सोनिया गाँधी कांग्रेस के तीन सबसे खास नेता मल्लिकाजर्जुन खड़गे अहमद पटेल को शिवसेना के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने की जिम्मेदारी दी है ,

आइये जानते है अहमद पटेल का अब तक का राजनीतिक कार्यकाल

– अहमद पटेल 1977 से 1982 तक गुजरात की यूथ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रहे ।

– सितंबर 1983 से दिसंबर 1984 तक वो ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के जॉइंट सेक्रेटरी रहे ।

-1985 में जनवरी से सितंबर तक वो प्रधानमंत्री राजीव गांधी के संसदीय सचिव रहे ।

-सितंबर 1985 से जनवरी 1986 तक पटेल ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के जनरल सेक्रेटरी रहे।

-जनवरी 1986 में गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष बने और अक्टूबर 1988 तक इस पद पर रहे।

– 1991 में नरसिम्हा राव के पीएम बनने के दौरान पटेल को कांग्रेस वर्किंग कमेटी का सदस्य बनाया गया ।

-1996 में उन्हें ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी का कोषाध्यक्ष बनाया गया था। यह वह समय था जब सीताराम केसरी पार्टी के अधय्क्ष हुआ करते थे ।

– वर्ष 2000 में उनकी भूमिका थोड़ी बदली , जब सोनिया गांधी का अपने निजी सचिव वी जॉर्ज से मनमुटाव हुआ । उनके अपना पद छोड़ने के बाद 2001 में अहमत पटेल सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार बन गए ।

– पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार को 2004 में गिराकर यूपीए की सरकार बनाने में उनका अहम योगदार माना जाता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here