जबलपुर. फेसबुक पर दोस्ती करने वाली युवती को कमरे पर बुलाकर गैंगरेप करने वाले तीनों आरोपियों और गढ़ा व संजीवनी नगर थाना क्षेत्र के निगरानी बदमाश बंटू उर्फ अंकित पटेल ‘सीरियल गैंगरेपिस्ट’ के रूप में सामने आए हैं।

इन्होंने कई युवतियों को शिकार बनाया है। गढ़ा पुलिस ने ऐसी दो पीडि़तों की पहचान की है। दोनों के बयान दर्ज किए गए हैं।गैंगरेप के प्रकरण में शुक्रवार को शारदा चौक नेमा बिल्डिंग से गिरफ्तार गोटेगांव निवासी कमलेश उर्फ जित्तू, जितेंद्र

और शुभम के मोबाइल पर कई आपत्तिजनक वीडियो मिले थे। पुलिस तब से इन वीडियो में दिखी युवतियों की तलाश में थी। इन युवतियों के साथ मदन महल की पहाड़ी में गैंगरेप किए जाने की बात सामने आई थी। पुलिस दो युवतियों को ढूंढ़

कर उनके बयान दर्ज कर चुकी है। दोनों युवतियों ने बताया कि शातिर बदमाश बंटू उर्फ अंकित के साथ जित्तू, जितेंद्र व शुभम गैंगरेप कर चुके हैं। उनके आपत्तिजनक वीडियो बनाकर वे ब्लैकमेल कर बुलाते थे। पुलिस प्रकरण का खुलासा

एक-दो दिन में कर सकती है।गैंगरेप कर युवती को मारा था चाकूसीरियल गैंगरेपिस्ट जित्तू पटेल और बंटू उर्फ अंकित पटेल के खिलाफ मंगलवार को गढ़ा में पहुंची 18 वर्षीय युवती ने गैंगरेप कर पैर में चाकू मारने की शिकायत दर्ज करायी।

बताया कि 2013 में पिता के निधन के बाद वह बड़ी मां के साथ रहती है। पांच जुलाई को बड़ी मां के डांट पर वह नाराज होकर दीनदयाल स्थित बस स्टैंड चली गयी थी। वहां रात 2.30 बजे बंटू व जित्तू पहुंचे। दोनों होटल में खाना खिलाने और

घर छोडऩे की बात कहकर बाइक पर बिठाकर अपने साथ ले गए। मेडिकल के सामने बजरंग नगर पहाड़ी पर ले गए। वहां चाकू व बंटू ने पिस्तौल दिखाकर कपड़े उतरवाए। गैंगरेप कर मोबाइल पर आपत्तिजनकर वीडियो बनाए और फिर

चाकू से बाएं पैर की जांघ पर मार दिया। सुबह छह बजे उसे तीन पत्ती के पास धमकी देकर छोड़ दिए। उसकी तबियत खराब हो गयी थी। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है।ये है मामला : फेसबुक पर 18 वर्षीय युवती से दोस्ती कर कमलेश

उर्फ जित्तू ने 11 जुलाई की रात नेमा बिल्डिंग में बीमारी के बहाने से बुलाया था। फिर युवती को बंधक बनाकर खुद और दो दोस्तों शुभम व जितेंद्र के साथ गैंगरेप किया।